प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत जम्‍मू और कश्‍मीर में 11,517 किलोमीटर लंबी 1858 सड़कों और 84 पुलों का काम पूरा

ग्रामीण विकास मंत्रालय

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत जम्‍मू और कश्‍मीर में 11,517 किलोमीटर लंबी 1858 सड़कों और 84 पुलों का काम पूरा

पीएमजीएसआई के अंतर्गत लद्दाख में जुलाई 2020 तक 699 किलोमीटर लंबी 96 सड़कों और 2 पुलों का काम पूरा 

प्रविष्टि तिथि: 17 AUG 2020 5:14PM by PIB Delhi
 

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजनाभारत की 2001 की जनगणना के आधार पर असंबद्ध बस्तियों को जोड़ने के लिए सरकार का एक प्रमुख कार्यक्रम है। संघ शासित जम्मू और कश्मीर तथा लद्दाख में250 से ऊपर की आबादी की सभी असंबद्ध बस्तियां कार्यक्रम के अंतर्गत इसकी पात्र हैं। संघ शासित जम्मू और कश्मीर में 19,277 किलोमीटर लंबी 3,261 सड़कों और 243 पुलों को मंजूरी दी गईजिनमें से 11,517 किलोमीटर लंबी 1858 सड़कों और 84 पुलों को पूरा किया जा चुका है। इसी तरहसंघ शासित प्रदेश लद्दाख में1207 किलोमीटर लंबी 142 सड़कों और 3 पुलों को मंजूरी दी गईजिसमें से 699 किलोमीटर लंबी 96 सड़कें और 2 पुल जुलाई 2020 तक पूरे हो चुके हैं। जम्‍मू कश्‍मीर में 2,149 असंबद्ध बस्तियों को जोड़ने के कार्यों की मंजूरी दी गई थीजिनमें से 1,858 बस्तियों को जोड़ा जा चुका है। लद्दाख में65 पात्र बस्तियों के काम को मंजूरी दी गई थी और 64 बस्तियों को जुलाई 2020 तक जोड़ा जा चुका है।

वन विभाग से मंजूरी न मिलने के कारण अगस्त 2019 तक बड़ी संख्या में स्वीकृत सड़क कार्य शुरू नहीं हो सके। हालांकिइस तरह के लंबित मामलों की पर्याप्त संख्या को हल कर दिया गया हैऔर पिछले एक साल के दौरान शासन प्रणाली में बदलाव के साथ काम सौंपा जा चुका है और शुरू कर दिया गया है। पिछले एक वर्ष के दौरान1,292 किलोमीटर लम्‍बाई वाली 181 सड़कों और 11 पुलों का काम पूरा हो चुका है जिन पर 715 करोड़ रुपये से अधिक खर्च हुआ है।

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना (पीएमजीएसवाई) के अंतर्गत सड़क के विकास के अच्छे उदाहरणों के रूप में दो मामलों को प्रस्तुत किया गया है।

टी 03 से स्टोक (पीएमजीएसवाई लेह) तक लिंक रोड का उन्नयन

लंबाई: 11.70 किलोमीटरस्वीकृत लागत: 1299.78 लाख रुपये

लेह जिले में स्‍टोक गाँव के लिए प्रस्तावित सड़कचोगलामसर हेमिस सड़क के 2 किमी दूर सेस्टोक गाँव के लिए शुरु होगी जिसकी लम्‍बाई 11.70 किलोमीटर है जिससे 2001 की जनगणना के अनुसार, 1855 की जनसंख्या को लाभ मिलेगा। इस योजना को वर्ष 2018-19 (चरण XII) में पीएमजीएसवाईएस-I के तहत स्वीकृति दी गई थी। पहले की सड़क क्षतिग्रस्त हालत में थी और प्रत्‍येक मौसम में चलने लायक सड़क के रूप में काम नहीं कर रही थी। इस सड़क का निर्माण पूरे लेह जिले में पहली बार प्लास्टिक कचरे का उपयोग करके किया जा रहा है। इस तकनीक मेंबेकार प्लास्टिक को कटे हुए रूप में उपयोग किया जाता हैऔर गर्म एग्रीगेट्स पर गर्म मिक्स प्लांट में डाल दिया जाता है। प्लास्टिक गर्म होकर पिघल जाता है। गर्म कोलतार के साथ कोटिंग होने से पहले गर्म एग्रीगेट्स पर कोटिंग हो जाती है। इस तकनीक से प्लास्टिक कचरा कम होगा और एग्रीगेट्स जल अवशोषण को कम करके सड़क की फुटपाथ संरचना को भी मजबूत करेंगे। यह परियोजना वर्ष 2019 में शुरू की गई थी। बिटुमिनस सतह स्तर तक किलोमीटर लंबाई पर काम पूरा हो चुका है और शेष लंबाई पर कार्य प्रगति पर है और यह अक्टूबर-2020 तक पूरा हो जाएगा। सड़क के उन्नयन सेस्टोक गांव के निवासी प्रत्‍येक मौसम में निकटतम बाजार के साथ जुड़ सकेंगेजिससे वहां रहने वाले लोगों की सामाजिक-आर्थिक स्थिति में सुधार होगा। गर्मियों के दौरानहजारों पर्यटक रॉयल पैलेस में संग्रहालयस्टोक मठ देखने के लिए जाते हैं और स्टोक कांगड़ी के लिए शुरूआती ट्रेक मार्ग लेते हैं जो पर्यटकों के आकर्षण का एक प्रमुख है।

 

http://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001KQNO.jpghttp://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002ZBFA.jpg

 

सप्‍लाई मोड़ टी03 से कैंथगली (पीएमजीएसवाई जम्मू) तक सड़क का उन्नयन

लंबाई : 27.70 किलोमीटरस्वीकृत लागत: 2389.32 लाख रुपये

यह सड़क उधमपुर जिले के सप्लाई मोड़ उधमपुर से कैंथगली गाँव तक जाती हैजिसकी लंबाई 27 किलोमीटर है जिससे 2001 की जनगणना के अनुसार 1608 लोगों की आबादी को लाभ मिलेगा। इस परियोजना को वर्ष 2018-19 में पीएमजीएसवाई -I, चरण XII के तहत मंजूरी दी गई है। यह कार्य अक्टूबर 2018 में सौंपा गया था। यह परियोजना 2018-19 में उन्नयन के लिए शुरू की गई थीलेकिन विभिन्न बाधाओं और मंजूरी आदि के कारण काम की गति धीमी हो गई। अब यह कार्य अच्छी गति में है और 11 किलोमीटर की लंबाई पूरी हो चुकी है और शेष कार्य मार्च 2021 तक पूरा हो जाएगा। इस सड़क के अपग्रेडेशन / सुधार से 5 गाँवों डबरेहक्रिमाचीमंसारपाथीकैंथगली की आबादी को नजदीकी बाजार और जिला मुख्यालय-उधमपुर से बेहतर कनेक्टिविटी प्रदान की जा सकेगी।

 

http://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0035GT8.jpg

 

प्रत्‍येक मौसम में चलने लायक ऐसी सभी सड़कों के निर्माण के साथउल्लिखित गांवों के निवासियों की सामाजिक-आर्थिक स्थिति निश्चित रूप से सुधरेगी और लोगों की स्कूलोंस्वास्थ्य केंद्रों और बाजारों तक बेहतर पहुंच होगी। इन सड़कों के पास कुछ पर्यटन स्थल हैं और गर्मी के दिनों मेंहजारों पर्यटक पंचेरीस्टोक कांगड़ीस्टोक मठ जैसे पर्यटन स्थलों पर जाते हैंजो जंगलों की घास और पहाड़ों से घिरे हैं और सर्दियों के दौरानबर्फ से ढके पहाड़ और सुरम्य परिदृश्य प्रकृति की सुंदरता को दर्शाता है। सप्‍लाई मोड़ से कैंथगली तक की सड़क एक प्रसिद्ध तीर्थस्थल तक हर मौसम में जाने लायक हैजहां हर साल लाखों पर्यटक आते हैं। इन सड़कों के निर्माण सेपर्यटकों की आमद निश्चित रूप से बढ़ जाएगी जिससे ग्रामीण / दूर-दराज के क्षेत्रों के निवासियों के जीवन स्तर में सुधार होगा।

****

एमजी/एएम/केपी/डीए
 



(रिलीज़ आईडी: 1646532) आगंतुक पटल : 40



 
 
इस विज्ञप्ति को इन भाषाओं में पढ़ें: Marathi Punjabi English Urdu Manipuri Tamil Telugu



 
 
 
 
 
back to Top
Footer Menu